सीए के फाइनल-पुरानी योजनाओं व नींव के नतीजे घोषित, झंड़ा लहराती छात्राएं

सीए के फाइनल- सीए ओल्ड स्कीम का ग्रुप-1 पास रेट 10.74, ग्रुप-2 का 12.87 और दोनों ग्रुप का पास रेट 1.57% था। पुरानी योजना के तहत 2,391 छात्र पात्र थे।

इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) ने सोमवार शाम को सीए की पुरानी योजना, नई योजना परीक्षा और जुलाई में आयोजित फाउंडेशन परीक्षा के अंतिम परिणाम घोषित किए। पुरानी और नई योजनाओं के परिणाम में लड़कियां पहले से ही राष्ट्रीय ध्वज से चकित थीं। इन दोनों योजनाओं में सभी शीर्ष भारतीय खिलाड़ी लड़कियां हैं।

नई योजना में पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर सिर्फ लड़कियों को रखा गया है। मंगलुरु के रूथ क्लेर डिसाल्वा ने 800 में से 472 अंक हासिल किए और कैलिफोर्निया की अंतिम पुरानी योजना में अखिल भारतीय चैंपियन बने।

भारत में पलक्कड़ का दूसरा स्थान मालविका का है। आर। कृष्णन ने प्राप्त किया। उन्होंने 446 अंक (800 अंकों में से) बनाए। मुरैना की नंदिनी अग्रवाल नए प्लान में भारत की टॉप ब्रांड बन गई हैं। उन्होंने 614 अंक (800 अंकों में से) बनाए। दूसरे स्थान पर इंदौर की साक्षी हैं, जिन्होंने (800 में से) 613 अंक हासिल किए। बैंगलोर के साक्षी राजेंद्र कुमार 800 में से 605 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

सीए ओल्ड स्कीम का ग्रुप-1 पास रेट 10.74, ग्रुप-2 का 12.87 और दोनों ग्रुप का पास रेट 1.57% था। पुरानी योजना के अनुसार 2,391 छात्र पात्र थे।

वहीं, नए कार्यक्रम के लिए 7,774 छात्र पात्र हैं। ग्रुप-1 का पास रेट 20.23% रहा। इसी तरह, ग्रुप-2 की पास रेट 17.36 है, और दोनों ग्रुप की पास रेट 11.97% है।

कुल 71,967 उम्मीदवारों ने बेसिक परीक्षा दी थी। इनमें से 19,158 पास घोषित किए गए। उनका पासिंग रेट 26.62% है। लड़कियों की तुलना में लड़कों की बुनियादी परीक्षाओं में उत्तीर्ण होने की दर अधिक है। 10,150 लड़के और 9,008 लड़कियों ने बेसिक परीक्षा पास की।

admin: